आयकर की दर में कोई परिवर्तन नहीं No Change in the Rate of Personal Income-Tax

व्‍यक्तिगत आयकर और कंपनियों के आयकर की दर में कोई परिवर्तन नहीं No Change in the Rate of Personal Income-Tax and Tax for Companies

वित्‍त वर्ष 2015-16 में व्‍यक्तिगत आयकर और कंपनियों के आयकर की दर में कोई परिवर्तन नहीं 

एक करोड़ से अधिक की आय वाले व्‍यक्तियों, एचयूएफ, एओपी, बीओई, फर्मों, कॉओपरेटिव सोसाइटियों और स्‍थानीय प्राधिकरणों पर 12 प्रतिशत की दर से अधिभार 


केंद्रीय वित्‍त मंत्री श्री अरुण जेटली ने आज लोकसभा में वर्ष 2015-16 का आम बजट पेश करते हुए व्‍यक्तिगत आयकर की दर में कोई बदलाव न किए जाने का प्रस्‍ताव किया है। अपनी बजटीय घोषणा में उन्‍होंने कहा कि वित्‍त वर्ष 2015-16 में अर्जित आय के संदर्भ में कंपनियों के कर में भी किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा और यह वर्ष 2016-17 के लिए भी लागू होगी। 

हालाकि वित्‍त मंत्री ने एक करोड़ से अधिक की आय वाले व्‍यक्तियों, एचयूएफ, एओपी, बीओई, फर्मों, कॉओपरेटिव सोसाइटियों और स्‍थानीय प्राधिकरणों पर 12 प्रतिशत की दर से अधिभार लगाने का प्रस्‍ताव किया है। एक करोड़ से लेकर 10 करोड़ तक की आय वाली घरेलू कंपनियों के मामले में 7 प्रतिशत और 10 करोड़ से ज्‍यादा की आय वाली घरेलू कंपनियों पर 12 प्रतिशत की दर से अधिभार लगाया गया है। 

श्री अरुण जेटली ने आगे प्रस्‍ताव करते हुए कहा कि एक करोड़ से 10 करोड़ तक की आय वाली विदेशी कंपनी के मामले में अधिभार दो प्रतिशत की दर से यथावथ रहेगा और 10 करोड़ से ज्‍यादा आय वाली विदेशी कंपनियों पर पांच प्रतिशत की दर से अधिभार जारी रहेगा। 

सार्वभौमिक गुणवत्‍ता आधारित शिक्षा प्रदान और वित्‍त पोषित करने की सरकार की वचनबद्धता को पूर्ण करने के लिए सभी करदाताओं के लिए वित्‍त वर्ष 2015-16 में आयकर पर 2 प्रतिशत की दर से शिक्षा उपकर और कर पर माध्‍यमिक एवं उच्‍चतर शिक्षा उपकर पर 1 प्रतिशत कर अतिरिक्‍त प्रभार लगाने का प्रस्‍ताव किया गया है।


No Change in the Rate of Personal Income-Tax and The Rate of Tax for Companies on Income in Financial Year2015-16 

Surcharge @12% Levied on Individuals, HUFs, AOPs, BOIs, Artificial Juridical Persons, Firms, Cooperative Societies and Local Authorities Having Income Exceeding Rs 1 Crore


The Union Finance Minister Shri Arun Jaitley in his Budget Speech in Lok Sabha today proposed no change in the rate ofpersonal Income-tax. He announced the tax proposals with no change in the rate of tax for companies in respect of theincome earned in the financial year 2015-16, assessable in the assessment year 2016-17. 

However, Finance Minister Shri Arun Jaitley proposed to levy a surcharge at the rate of 12% on individuals, HUFs, AOPs, BOIs, artificial juridical persons, firms, cooperative societies and local authorities having income exceeding Rs 1 crore. Surcharge in the case of domestic companies having income exceeding Rs 1 crore and upto Rs 10 crore is proposed to be levied @ 7% and surcharge @ 12% is proposed to be levied on domestic companies having income exceeding Rs 10 crore. 

Shri Jaitley further proposed that in the case of foreign companies the surcharge will continue to be levied @ 2% if theincome exceeds Rs 1 crore and is upto Rs 10 crore, and @ 5% if the income exceeds Rs 10 crore. 

It is also proposed to levy a surcharge @ 12% as against current rate of 10% on additional income-tax payable by companies on distribution of dividends and buyback of shares, or by mutual funds and securitization trusts on distribution of income. 

The education cess on income-tax @ 2% for fulfillment of the commitment of the Government to provide and finance universalized quality based education and 1% of additional surcharge called ‘Secondary and Higher Education Cess’ on tax and surcharge is proposed to be continued for the financial year 2015-16 for all taxpayers. 

Follow by Email

Google+ Followers

Daily Horoscopes