KNOW ABOUT – COMPLAINT MANAGEMENT SYSTEM (TWITTER) OF INDIAN RAILWAY

HOW TO DO: VOTING ALERTS !! WAKE UP






Source - InformationCenter


समलैंगिकता को कानूनी मान्यता मिलने के बाद दिल्ली म...



सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक फैसले में समलैंगिक संबंधों को कानूनी मान्यता दी. उसके बाद 25 नवंबर 2018 को दिल्ली में प्राइड परेड निकाली गई. यूं तो दिल्ली में प्राइड परेड का ये दसवां साल था. मगर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पहली परेड थी. बाराखंबा रोड से टॉलस्टॉय मार्ग तक रविवार दोपहर को 11वीं बार प्राइड परेड का आयोजन हुआ. पर ये पहली दफा था कि यहां लोग 377 ख़त्म करने की बात नहीं कह रहे थे. मुस्कुराहटों में विलीन चहरे पहली बार पूरी तरह अपने आप को आज़ाद महसूस कर पा रहे थे.




समानता की ओर बढ़ते कानून और कई साल के संघर्ष को मनाती इस परेड की तस्वीरें देखिए:









Source - OddNari

New PAN Card Rules To Come Into Effect From December 5. Details Here

The Income Tax Department has released a new set of rules for PAN (permanent account number) card applicants. The new PAN card rules, to come into effect from December 5, 2018, require financial entities which make transactions worth Rs. 2.5 lakh or more in a financial year to apply for a PAN card, the Central Board of Direct Taxes (CBDT). A person other than an individual, who enters into a financial transaction of an amount of Rs. 2.50 lakh or more in a financial year, also needs to apply for a PAN card on or before the May 31, 2019, said CBDT in a notification earlier this week.
The Income Tax Department also announced changes in the application form of a PAN card.
Here are five things to know about new PAN card rules:
1. In case a managing director, director, partner, trustee, author, founder, karta, chief executive officer, principal officer or office bearer (or any such person who does not have PAN), he/she will also be required to apply for PAN on or before May 31 of the following financial year, the notification said.
2  With the new rules, resident entities will have to obtain PAN card even if the total sales, turnover or gross receipts are not likely to exceed Rs. 5 lakh in a financial year, said Suraj Nangia, Partner, Nangia Advisors LLP. “This will help the income tax department track financial transactions, broaden its tax base and prevent tax evasion”.
3. The Income Tax Department also announced certain changes to the application form for PAN. It amended the income tax rules and said that quoting of father’s name in PAN application forms would not be mandatory in certain cases.
4. The amended rules provide that furnishing of father’s name will not be mandatory for a person whose mother is a single parent. The new rules will become applicable from December 5, said the CBDT notification.
5. PAN is an identification number assigned to income tax assessees in the country. It is required for financial transactions such as opening of a bank account and filing of income tax returns (ITR).
Source – NDTV

इस भारतीय खिलाड़ी ने रचा इतिहास, दुनिया में कोई नह...



भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टी-20 मैच सिडनी में हुआ। इस मैच में भारतीय युवा स्पिन गेंदबाज़ क्रुणाल पांड्या ने इतिहास रच दिया। इस मुकाबले में पांड्या ने चार विकेट लेकर एक ऐसा कमाल किया जो इससे पहले कोई भी खिलाड़ी नहीं कर सका था। क्रुणाल पांड्या का ये उनके टी-20 करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी रहा। पांड्या के इस प्रदर्शन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया की टीम निर्धारित 20 ओवर में 164 रन ही बना सकी।

पांड्या ने रचा इतिहास


पांड्या ने इस मैच में अपने चार ओवर 36 रन देकर चार विकेट चटकाए। इसी के साथ वो ऑस्ट्रेलिया में टी-20 क्रिकेट में सबसे उम्दा प्रदर्शन करने वाले स्पिन गेंदबाज़ बन गए। इससे पहले कोई भी स्पिन गेंदबाज़ अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया में चार विकेट नहीं ले सका था। पांड्या की बाएं हाथ की स्पिन गेंदबाजी बीच के ओवरों में फायदेमंद साबित हुई क्योंकि इससे पहले मेजबान टीम नौंवे ओवर तक बिना विकेट गंवाए 68 रन बना चुकी थी। पांड्या ने 36 रन देकर चार विकेट चटकाए। वह थोड़े खर्चीले भले ही साबित हुए हों, पर भारत ने उनकी बदौलत सही समय पर विकेट प्राप्त किए।

हैट्रिक से चूके पांड्या

ऑस्ट्रेलियाई पारी का 10वां ओवर फेंकने की जिम्मेदारी कोहली ने क्रुणाल पांड्या को दी। इस ओवर की पहली गेंद पर पांड्या ने 33 रन पर खेल रहे डार्सी शॉर्ट को LBW आउट कर दिया। इसके बाद अगली ही गेंद पर पांड्या ने मैक्डरमॉट को खाता तक खोलने का मौका नहीं दिया और उन्हें भी LBW आउट कर भारत को दो गेंदों में दो सफलता दिला दी। हालांकि उनके पास हैट्रिक लेने का शानदार मौका था, लेकिन अगली गेंद पर कैरी ने एक रन लेकर उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। 

पांड्या का ये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 

पांड्या का ये छठा टी-20 मैच रहा इससे पहले खेले गए पांच टी-20 मैचों में उनके नाम सिर्फ दो ही विकेट थे। सिडनी में पांड्या का जादू ऐसा चला कि ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ उनकी फिरकी के जाल में फंसते चले गए। अब उनके नाम छह टी-20 मैचों में छह विकेट हो गए हैं।

पांड्या ने इन बल्लेबाज़ों का किया शिकार

पांड्या ने जिन चार बल्लेबाज़ों का शिकार किया उनमें 33 रन बनाने वाले डार्सी शॉर्ट, खाता तक न खोल पाने वाले मैक्डरमॉट, 13 रन बनाने वाले ग्लेन मैक्सवेल और फिर 27 रन बनाकर आउट होने वाले कैरी का विकेट शामिल रहा।

Source - Jagran 

26/11 के 10 साल: जानें- उस दिन मुंबई में कैसे चला ...



पहले पहल तो किसी को भी यह अंदाजा नहीं था कि यह हमला इतना बड़ा हो सकता है. लेकिन धीरे- धीरे मुंबई के और इलाकों से धमाकों और गोलीबारी की खबरें आने लगी थीं. आधी रात होते-होते मुंबई शहर की फिजाओं में आतंक का असर नज़र आने लगा था.

आज से 10 साल पहले देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में आतंकियों ने हमला किया था, जिसमें 166 लोगों की मौत हो गई थी. हमले में कई जवान भी शहीद हो गए थे. 26/11 की बरसी पर जानते हैं उस दिन मुंबई में क्या हुआ था.

बात 26 नवंबर 2008 की शाम मुंबई में गुलजार हो रही थी कि अचानक शहर के एक हिस्से में गोलियां चलने लगीं. आतंकियों ने कहर बरपाना शुरू कर दिया था, जिसकी शुरुआत लियोपोल्ड कैफे और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी) से हुई थी. 

मुंबई टर्मिनस पर मारे गए थे सबसे ज्यादा लोग: आतंक का तांडव मुंबई के सबसे व्यस्ततम रेलवे स्टेशन छत्रपति शिवाजी टर्मिनस पर शुरु हुआ था. यहां मौजूद किसी यात्री को इस बात अंदाजा नहीं था कि स्टेशन पर आतंक का खूनी खेल होने वाला है. वहां बड़ी संख्या में यात्री मौजूद थे.

दो आतंकियों ने वहां पहुंचकर अंधाधुंध फायरिंग की थी और हैंड ग्रेनेड भी फेंके थे. जिसकी वजह से 58 बेगुनाह यात्री मौत की आगोश में समा गए थे. जबकि कई लोग गोली लगने और भगदड़ में गिर जाने की वजह से घायल हो गए थे. इस हमले को अजमल आमिर कसाब और इस्माइल खान नाम के आतंकियों ने अंजाम दिया था.

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन के अलावा आतंकियों ने ताज होटल, होटल ओबेरॉय, लियोपोल्ड कैफ़े, कामा अस्पताल और दक्षिण मुंबई के कई स्थानों पर हमले शुरू कर दिए थे. आधी रात होते-होते मुंबई के कई इलाकों में हमले हो रहे थे. शहर में चार जगहों पर मुठभेड़ चल रही थी.

पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बल भी मैदान में डट गए थे. एक साथ इतनी जगहों पर हमले ने सबको चौंका दिया था. इसकी वजह से आतंकियों की संख्या का अंदाजा लगाना मुश्किल हो रहा था.

ताज होटल में चली थी सबसे लंबी मुठभेड़: 26 नवंबर की रात में ही आतंकियों ने अपना रुख पूरी तरह से ताज होटल की तरफ कर दिया था. यहां आतंकियों ने कई मेहमानों को बंधक बना लिया था, जिनमें सात विदेशी नागरिक भी शामिल थे. ताज होटल के हेरीटेज विंग में आग लगा दी गई थी.

27 नवंबर की सुबह एनएसजी के कमांडो आतंकवादियों का सामना करने पहुंच चुके थे. सबसे पहले होटल ओबेरॉय में बंधकों को मुक्त कराकर ऑपरेशन 28 नवंबर की दोपहर को खत्म हुआ था, और उसी दिन शाम तक नरीमन हाउस के आतंकवादी भी मारे गए थे. लेकिन होटल ताज के ऑपरेशन को अंजाम तक पहुंचाने में 29 नवंबर की सुबह तक का वक्त लग गया था.

ताड़देव इलाके से पकड़ा गया था आतंकी कसाब
मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस में खून की होली खेलने वाला आतंकी अजमल आमिर कसाब मुठभेड़ के बाद ताड़देव इलाके से जिंदा पकड़ा गया था. वह बुरी तरह घायल था. बाद में उसने पाकिस्तान की आतंकी साजिश की पोल खोलकर रख दी थी. उसी ने मार गए अपने साथियों के नामों का खुलासा किया था. बाद में कसाब पर मुकदमा चला और फिर उसे सजा-ए-मौत दी गई.

हमले में शामिल थे दस आतंकवादी: मुंबई हमले की रणनीति और आक्रमकता देखकर लग रहा था कि इस हमले में कई आतंकी शामिल हो सकते हैं. लेकिन हमला खत्म हो जाने और कसाब के पकड़े जाने के बाद साफ हो गया था कि इस काम को अंजाम देने के लिए दस आतंकवादियों को तैयार किया गया था.

उन्हें पाकिस्तान की सरजमीं पर आतंक की ट्रेनिंग दी गई थी. उसके बाद वे आतंकी 26 नवंबर को एक बोट से समुंद्र के रास्ते भारत में दाखिल हुए थे. पुलिस ने जली हुई बोट को भी बरामद कर लिया था.

आतंकियों ने अगवा की थी पुलिस वैन: मुंबई हमले में आतंकवादियों ने एक पुलिस वैन को अगवा कर लिया था. वे उस वैन में घूमते हुए सड़कों पर गोलियां बरसा रहे थे. इसी दौरान एक टीवी चैनल के केमरामैन के हाथ में आतंकियों की गोली लगी थी. बाद में आतंकी वैन लेकर कामा अस्पताल में घुस गए थे. वहीं मुठभेड़ के दौरान एटीएस के चीफ हेमंत करकरे, एसआई अशोक काम्टे और विजय सालस्कर शहीद हो गए थे.

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में आतंकियों के इस हमले को नाकाम करने के लिए दो सौ एनएसजी कमांडो और सेना के पचास कमांडो को मुंबई भेजा गया था. इसके अलावा सेना की पांच टुकड़ियों को भी वहां तैनात किया गया था. हमले के दौरान नौसेना को भी अलर्ट पर रखा गया था.

हमले में शहीद हुए थे पुलिस और एनएसजी के 11 जवान: मुंबई के आतंकी हमले को नाकाम करने के अभियान में मुंबई पुलिस, एटीएस और एनएसजी के 11 लोग वीरगति को प्राप्त हो गए थे. इनमें एटीएस के प्रमुख हेमंत करकरे, एसीपी अशोक कामटे, एसीपी सदानंद दाते, एनएसजी के कमांडो मेजर संदीप उन्नीकृष्णन, एनकाउंटर स्पेशलिस्ट एसआई विजय सालस्कर, इंसपेक्टर सुशांत शिंदे, एसआई प्रकाश मोरे, एसआई दुदगुड़े, एएसआई नानासाहब भोंसले, एएसआई तुकाराम ओंबले, कांस्टेबल विजय खांडेकर, जयवंत पाटिल, योगेश पाटिल, अंबादोस पवार और एम.सी. चौधरी शामिल थे. इसके अलावा इस हमले में 137 लोगों की मौत हो गई थी जबकि लगभग 300 लोग घायल हो गए थे.



Source - Aaj Tak 

इतिहास रचकर भावुक हुईं मेरीकॉम, देश को समर्पित किय...



भारतीय सुपरस्टार एमसी मेरीकॉम (48 किग्रा) ने अपने अनुभव के बूते शनिवार को केडी जाधव हॉल में दसवीं महिला विश्व मुक्केबाजीचैम्पियनशिप के फाइनल में यूक्रेन की युवा हन्ना ओखोटा को 5-0 से पस्त कर रिकॉर्ड छठा स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाला.
‘मैग्नीफिशेंट मेरी’ ने इस तरह क्यूबा के महान पुरुष मुक्केबाज फेलिक्स सेवॉन की बराबरी कर ली, जो विश्व चैम्पियनशिप में छह खिताब जीत चुके हैं. इससे पहले वह आयरलैंड की केटी टेलर के साथ बराबरी पर थीं, जो पांच बार विश्व चैम्पियन रह चुकी हैं.


मेरीकॉम ने खचाखच भरे स्टेडियम में घरेलू दर्शकों के सामने दूसरा स्वर्ण पदक हासिल किया. यह उनका विश्व चैम्पियनशिप में सातवां पदक है, इससे पहले वह पांच स्वर्ण और एक रजत जीत चुकी थीं.

मुकाबला जीतने के बाद मेरीकॉम काफी भावुक हो गईं और खुशी की वजह से उनके आंसू थम नहीं रहे थे. उन्होंने इस पदक को देश को समर्पित किया. लंदन ओलंपिक की कांस्य पदकधारी मेरीकॉम को निश्चित रूप से अपार अनुभव का फायदा मिला. उन्होंने कोच की रणनीति के अनुसार खेलते हुए लाइट फ्लाईवेट फाइनल में अपने से 13 साल छोटी हन्ना को मात दी, जो युवा यूरोपीय चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता हैं.

मेरीकॉम ने हाल में सितंबर में पोलैंड में हुई सिलेसियान मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में यूक्रेन की इस मुक्केबाज को हराकर फाइनल में प्रवेश कर स्वर्ण पदक हासिल किया था. मणिपुर की इस मुक्केबाज ने अपने सटीक और ताकतवर मुक्कों की बदौलत पांचों जज से 30-27, 29-28, 29-28, 30-27, 30-27 अंक हासिल किए.

स्टेडियम में बैठा हर व्यक्ति इस दौरान 35 साल की मेरीकॉम का उत्साह बढ़ा रहा था. मुकाबले के पहले राउंड में मेरीकॉम ने दाएं हाथ से सीधा तेज पंच लगाकर शुरुआत की. इसके बाद उन्होंने विपक्षी खिलाड़ी को जरा भी मौका नहीं दिया और बीच-बीच में तेजी से मुक्के जड़ते हुए पांचों जज से पूरे अंक हासिल किए.

इस दौरान दोनों एक-दूसरे के ऊपर गिर भी गई थीं. दूसरे राउंड में कोच की सलाह के बाद हन्ना ने आक्रामक होने की पूरी कोशिश की, पर पांच बार की विश्व चैम्पियन के सामने उनकी एक नहीं चली. हालांकि इसमें यूक्रेन की मुक्केबाज ने दाएं हाथ से लगाए गए शानदार मुक्कों से कुछ बेहतरीन अंक जुटाए, लेकिन वह मेरीकॉम से आगे नहीं निकल सकीं.

मेरीकॉम ने अपनी चिर परिचित शैली में खेलते हुए जानदार पंच से विपक्षी का हौसला पस्त करना जारी रखा. जो तीसरे राउंड में भी जारी रहा. इसमें भी भारतीय मुक्केबाज का जलवा कायम रहा, उन्होंने दबदबा जारी रखते हुए तेजी से कई पंच विपक्षी मुक्केबाज के मुंह पर जमा दिए. ऐसा दिख रहा था कि विपक्षी मुक्केबाज उनके सामने निरुत्तर थी.

Source - Aaj Tak

This Natural Sugar Supplement Could Help Fight Can...



Mannose a nutritional supplement found naturally in fruits such as cranberries can aid in slowing the growth of tumours and improve cancer treatment, a study has shown. The findings showed that mannose enhanced the effects of chemotherapy in mice with multiple types of cancer including leukaemia, osteosarcoma, ovarian and bowel cancer. It slowed tumour growth, reduced the size of tumours and even helped increase the lifespan of some mice. Tumours use more glucose than normal, healthy tissues. However, it is very hard to control the amount of glucose in your body through diet alone. Researchers found that mannose can interfere with glucose to reduce how much sugar cancer cells can use.

"Tumours need a lot of glucose to grow, so limiting the amount they can use should slow cancer progression. The problem is that normal tissues need glucose as well, so we can't completely remove it from the body.

"In our study, we found a dosage of mannose that could block enough glucose to slow tumour growth in mice, but not so much that normal tissues were affected," said lead author Kevin Ryan, Professor at the Cancer Research UK Beatson Institute.

latin and doxorubicin -- two of the most widely used chemotherapy drugs.

Some cells responded well to the treatment while others did not. It was also found that the presence of an enzyme that breaks down mannose in cells was a good indicator of how effective treatment.
Some common causes of cancer are:
Excessive smoking and drinking
Obesity 
Physical inactivity
Gene mutation such as viruses, cancer-causing chemicals, inflammation and radiation
Have a look at some tips which can help prevent cancer:
Proper vaccines to prevent cancer is essential
Aim for a healthy and balanced diet
Protect yourself from the harmful radiation of the sun
Regular physical activity is a must to prevent cancer
Avoid excessive drinking and smoking
Try maintaining a healthy weight by eating healthy food and staying active
Avoid chewing tobacco
Regular medical checkups are must

Source - NDTV

Arvind Kejriwal hands over Rs 1 cr cheque to kin o...



Chief Minister Arvind Kejriwal Friday paid tributes to Major Amit Sagar, killed in an avalanche in Jammu and Kashmir's Sonamarg last year, and handed over a cheque of Rs 1 crore to his family in west Delhi here, the city government said in a statement.

"Country is indebted to the supreme sacrifice made by officers like Major Amit Sagar. Rs 1 cr to his family by Del govt is a small way to express our indebtedness (sic)," Kejriwal tweeted.

In January 2017, an avalanche hit an Army camp at Sonamarg in central Kashmir's Ganderbal district, resulting in the death of major Amit Sagar. "The Arvind Kejriwal-led Delhi Government pays Rs 1 crore to the family of martyr as a mark of respect," the Delhi government statement read.

It also stated that the event was also attended by Delhi Revenue Minister Kailash Gahlot and local MLA Jagdeep Singh.

Source - Times of India 

सिर्फ स्किन ही नहीं बल्कि कई बीमारियों की दवा है ए...



एलोवेरा एक औषधीय पौधा है. इसे ग्वारपाठा, घीकवार और धृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है. एलोवेरा के जूस का सेवन करने से शरीर में होने वाले पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है. एलोवेरा में एक जड़ी-बूटी की तरह कई गुण होते हैं. चेहरे के लिए अमृत और औषधीय गुणों का भण्‍डार है एलोवेरा.
एलोवेरा का इस्तेमाल सर्दी और गर्मी दोनों ही मौसम में कर सकते हैं. हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, सुबह खाली पेट एलोवेरा जूस के सेवन से पेट की समस्याएं दूर हो जाती हैं.

स्किन के साथ-साथ एलोवेरा सेहत के लिए भी कारगर साबित होता है. आइए जानते हैं एलोवेरा से होने वाले फायदों के बारे में....

वजन कम करे- एलोवेरा सिर्फ स्किन की खूबसूरती बढ़ाने में ही फायदेमंद नहीं होता है, बल्कि ये वजन करने में भी मददगार साबित होता है. हेल्थ प्रोडक्ट्स में भी एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. ये शरीर से फ्री रेडिकल्स निकालने में मदद करता है और इम्युनिटी को बढ़ाता है. कई स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि एलोवेरा वजन करने में बहुत कारगर साबित होता है. 

डाइजेशन बेहतर करता है- एलोवेरा जूस शरीर को डीटॉक्सीफाई करता है, जिससे डाइजेशन बेहतर होता है. एलोवेरा जूस और जेल दोनों से ही कब्ज की समस्या दूर होती है. 

इम्युनिटी मजबूत करता है- एलोवेरा में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, बी-1, बी-2, बी-6, बी-12, विटामिन-सी, विटामिन-ई, फॉलिक एसिड आदि गुण पाए जाते हैं. एलोवेरा के सेवन से कई बीमारियों से सुरक्षित रहा जा सकता है. 

डायबिटीज में फायदेमंद- एलोवेरा जूस या इसके जेल के सेवन से डायबिटीज की समस्या में भी फायदा पहुंचता है. इसके सेवन से ब्लड शुगर का स्तर नॉर्मल रहता है. 

झड़ते बालों की समस्या दूर करता है- एलोवेरा में प्रोटियोलिटिक एंजाइम मौजूद होते हैं. ये स्कैल्प की कोशिकाओं की मरम्मत करते हैं. एलोवेरा का इस्तेमाल कंडीशनर के तौर पर भी किया जाता है. इससे बाल मजबूत बनते हैं, स्कैल्प की एलर्जी से छुटकारा मिलता है. डैंड्रफ दूर होता है. 

एलोवेरा जेल को नारियल के तेल में मिलकार बालों की जड़ों में मसाज करने से काफी फायदा होता है. एलोवेरा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें. वहीं, गर्भवती महिलाओं को भी एलोवेरा का सेवन नहीं करना चाहिए.

स्किन के लिए- एलोवेरा से स्किन को अन-गिनत फायदे होते हैं. चेहरे पर एलोवेरा जेल लगाने से झुर्रियां, दाग-धब्बे, मुंहासे आदि समस्याएं दूर हो जाती हैं. एलोवेरा से टैनिंग की समस्या भी दूर हो जाती हैं. इसके अलावा किसी कीड़े के काटने पर एलोवेरा जेल लगाने से भी फायदा पहुंचता है.

रूखी स्किन के लिए- सर्दियों के मौसम में अधिकतर लोगों की स्किन रूखी और बेजान हो जाती है. रूखी स्किन से राहत पाने के लिए एलोवेरा जेल में एक चुटकी हल्दी पाउडर, एक चम्मच शहद, एक चम्मच दूध और कुछ बूंदे गुलाब जल की मिलाएं. इन सबको अच्छे से मिलाकर कम से कम 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर चेहरा ताजे पानी से धो लें. 

निखार के लिए- यह बहुत अच्छा क्लींजर है. ये त्वचा की ऊपरी सतह पर मौजूद गंदगी और डेड सेल्स को साफ करने का काम करता है, जिससे चेहरे पर निखार आ जाता है. अगर आपके पास एलोवेरा जेल है तो अच्छी बात है, वरना आप एलोवेरा की एक स्ट‍िक को बीच से काटकर उसके गूदे को भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

मुंहासों में फायदेमंद- एलोवेरा में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं. ये मुंहासों और दानों की समस्या दूर करने में बहुत कारगर साबित होता है. ऐलोवेरा जेल में शहद मिलाकर मिश्रण बना लें. इस मिश्रण को रोजाना चेहरे पर लगाएं. जल्द ही मुंहासों से राहत मिलेगी.



Source - Aaj Tak 

M1

Follow by Email

Google+ Followers